Press "Enter" to skip to content

कौन है सबसे ज्यादा फायदेमंद विज्ञान या आयुर्वेद,?

कौन है सबसे ज्यादा फायदेमंद

आज के समय में हम स्वस्थ रहना चाहते है| इसके लिए हमारे सामने दो विकल्प है की एक तो हम विज्ञान की बनाई दवाइयों का इस्तेमाल करे तो वही दूसरा की हम आयुर्वेद अपनाएँ| क्योकि आज के समय में आयुर्वेद का बोलबाला बहुत अधिक है

और ये आसानी से बाज़ार में उपलब्ध है| हम कई बार इस चीज को लेकर भ्रमित रहते है की इन दोनों में हम किसका इस्तेमाल करे| अगर आप एक चीज का इस्तेमाल करते है तो दूसरी भी कर सकते है| लेकिन इन दोनों में कौन सा बेहतर है आइये जानते है-

आयुर्वेद से निकला है विज्ञान-

ये बात शायद आपको पता हो की आज के समय में विज्ञान द्वारा निकाली जा रही लगभग सभी खोजे और दवाइयां कही ना खी हमारे आयुर्वेद से ली गई है| आज का विज्ञान पुराने आयुर्वेद ग्रन्थ पर टिका हुआ है| कई सारी चीजे ऐसी है जो हूबहू हमारे ग्रंथो में लिखी गई है जिन्हें आज विज्ञान मानता है|

फायदा-

अब बात करते है फायदे की आखिर कौन का अधिक फायदेमंद है| सबसे पहले आपको बता दे की आयुर्वेद एक ऐसा सेगमेंट है जिससे आपको अगर फायदा नहीं होता तो नुकसान भी नहीं होता है| मान लिजी एक बार में आपने कोई आयुर्वेदिक दवाई अधिक खा ली तो आपको उतना अधिक नुकसान नहीं होगा| लेकिन अगर आपने कही आज की विज्ञान की दवाइयां खा ली तो नुकसान होगा क्योकि इनमे बहुत अधिक मात्रा में केमिकल होते है|

इसके अलावा आयुर्वेदिक चीजो का फायदा धीरे होता है| तो वही मेडिसिन बहुत जल्दी फायदा करती है| लेकिन समझना ये भी होगा की आयुर्वेद की चीजे कही ना कही हमेशा के लिए असरकारक होती है|

जैसे आप किसी मर्ज में दो तरीके की दवाई कर रहे है| एक विज्ञान और एक आयुर्वेद| विज्ञान की मेडिसिन खाने से आपको तुरंत राहत मिलेगी और पूरा कोर्स करने के बाद आपकी बिमारी ठीक होगी इसकी कोई गारंटी नहीं है और हो सकता है नुकसान भी हो| लेकिन वही अगर आप आयुर्वेद लेते है तो आपको फायदा स्लो होगा लेकिन लंबे समय के लिए होगा और इसके अलावा इसका कोई नुकसान भी नहीं है|

सब कुछ आसपास है-

आपको समझने की देर है बस नहीं तो आप देखे तो सबकुछ हमारे आसपास है| आज विज्ञान जो दवाइयां बना रहा है उनमे कही ना कही आयुर्वेदिक चीजो का मिश्रण ही होता है बस वो केमिकल अधिक मिल जाने से नुकसान भी करने लगती है|

आयुर्वेद का एक फायदा-

आयुर्वेद का सबसे बड़ा फायदा बताये तो वो ये है की अगर आप किसी मर्ज की आयुर्वेदिक दवाई का सेवन करते है तो यह आपके शरीर को उस बिमारी के खिलाफ तैयार करता है|

यानी की शरीर को भी इतना मजबूत बनाने की कोशिश करता है की आपकी बॉडी खुद ब खुद हील करने लगती है यानी की उस रोग के खिलाफ कड़ी होने लग जाती है| इसका अर्थ है की हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढाता है\ इसीलिए आप आयुर्वेद और विज्ञान में किसी एक को चुन सकते है|

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *