नार्थ कोरिया ने अमेरिका के साथ परमाणु वार्ता से पहले मिसाइल लॉन्च कीं।

उत्तर कोरिया ने बुधवार को दो बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया, जिनमें से एक को सियोल और टोक्यो के सूत्रों के अनुसार जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र से संबंधित पानी में गिरने से पहले पनडुब्बी से छोड़ा जा सकता है।

दक्षिण कोरिया के संयुक्त चीफ्स ऑफ स्टाफ (जेसीएस) के एक बयान के अनुसार, मिसाइलों को पूर्वी तटीय शहर वॉनसन के उत्तर-पूर्व में एक स्थान से छोड़ा गया।

जेसीएस ने कहा कि मिसाइलों में से एक को संभवतः एक पनडुब्बी से लॉन्च किया गया था, जिसकी पुष्टि होने पर, यह 2016 की गर्मियों के बाद से इस तरह की प्योंगयांग की पहली परीक्षा होगी।

जेसीएस के अनुसार, पनडुब्बी द्वारा लॉन्च की गई बैलिस्टिक मिसाइल (एसएलबीएम) संभवत: पुग्गुक्सॉन्ग (पोलर स्टार) मध्यम श्रेणी की सीरीज़ की है, जिनके पास परमाणु क्षमता है।

जेसीएस ने कहा कि मिसाइल 910 किलोमीटर (565 मील) की अनुमानित ऊंचाई पर पहुंची और जापान के सागर में गिरने से पहले लगभग 450 किलोमीटर की दूरी तय की।

24 अगस्त 2016 को उत्तर कोरिया के पिछले एसएलबीएम लॉन्च में एक पुकगुकसॉन्ग -1 मिसाइल शामिल थी जिसे उसी क्षेत्र से छोड़ा गया था जहां बुधवार का परीक्षण हुआ था। इस नए परीक्षण की भी जापान सरकार ने पुष्टि की थी।

जापानी सरकार के एक प्रवक्ता योशीहिदे सुगा ने संवाददाताओं को बताया कि कम से कम दो प्रोजेक्टाइल (जो बैलिस्टिक मिसाइल प्रतीत होते हैं) निकाल दिए गए थे और उनमें से एक दक्षिण-पश्चिमी शिमाने प्रान्त के तट से दूर जापान के ईईजेड के भीतर गिर गया था।

सुगा के अनुसार पहला प्रक्षेप्य, कोरियाई समय सुबह 7.17 बजे शुरू किया गया था, जबकि ईईजेड तक पहुंचने वाले को 10 मिनट बाद निकाल दिया गया था।

प्योंगयांग द्वारा घोषित कोरियाई प्रायद्वीप के नाभिकीयकरण पर अमेरिका के साथ जल्द ही वार्ता फिर से शुरू करने की घोषणा के एक दिन बाद ये नवीनतम परीक्षण आए।

उत्तर कोरिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि शुक्रवार को प्रारंभिक राजनयिक संपर्कों के बाद शनिवार को वार्ता फिर से बंद हो जाएगी, हालांकि वह इन वार्ताओं के लिए नियोजित स्थान को निर्दिष्ट करने में विफल रही।

पहली बार तकनीकी स्तर पर होने वाली बातचीत की बहाली पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन द्वारा 30 जून को आयोजित अंतर-कोरियाई सीमा पर अपने शिखर सम्मेलन के दौरान सहमति व्यक्त की गई थी

कौन है सबसे ज्यादा फायदेमंद विज्ञान या आयुर्वेद,?

Share
Leave a Comment

Recent Posts

नितीश कुमार का लालू पर निजी हमला 9 -9 बच्चे पैदा करने वाला बताया-Bihar Election

नितीश कुमार का लालू यादव पर चुनावी हमला 9 -9 बच्चे पैदा करने वाला बताया-Bihar…

2 days ago

PVC Aadhar Card आने पर भी नहीं बदलना पड़ेगा आपको पुराना आधार कार्ड-UIDAI

हाल ही में गवर्मेन्ट एजेंसी UIDAI ने  PVC Aadhar Card की सुविधा दी है। कैसे…

4 days ago

Micromax IN Series – भारत में कीमत और लॉन्च की तारीख

Micromax IN Series - माइक्रोमैक्स बहुत जल्द भारतीय बाज़ार में अपने दो नए स्मार्टफोन लॉन्च…

1 week ago

12 साल की उम्र में Saif Ali Khan की शादी में पहुंची Kareena Kapoor ने कही थी ये बात

Kareena Kapoor Saif Ali Khan- बॉलीवुड़ की इस चमचमाती दुनियां में सब कुछ संभव लगता…

2 weeks ago

बहन की तस्वीर शेयर कर, Sonu Sood हुए भावुक

      बॉलीवुड के अभिनेता सोनू सूद आजकल किसी देवता मसीहा भगवान से कम…

2 weeks ago

Narco Test Kya Hai आए जानते है

Narco Test Kya Hai? Kaise Kiya Jata Hai आए जानते है नार्को टेस्ट जिसमे अपराधी…

3 weeks ago